आइट्राँस

आइट्राँस, देवनागरी सहित भारत की अनेक लिपियों में लिखे पाठ को रोमन लिपि में लिप्यन्तरण की एक पद्धति है। आजकल अनेक कम्प्यूटर सॉफ्टवेयरों के उपलब्ध होने से आइट्रान्स में लिप्यन्तरण का कार्य अत्यन्त सरल, तेज और मशीनी हो गया है। इसका विकास अविनाश चोपड़े ने किया। आइट्राँस का नवीनतम् संस्करण 5.30 है जो 2001 के जुलाई में आया था। इसी संस्करण के बाद आइट्राँस को स्थिर कर दिया गया है।
टिबिल
टिबिल (TBIL), Tiny BASIC Interpreter Language का संक्षिप्त रूप है। यह एक सॉफ्टवेयर औजार है जो ऑफिस डॉक्यूमेंटों में फॉन्ट
यूनिकोड
यूनिकोड प्रत्येक अक्षर के लिए एक विशेष संख्या प्रदान करता है, चाहे कोई भी कम्प्यूटर प्लेटफॉर्म, प्रोग्राम
रोमन लिपि
रोमन लिपि लिखावट का वो तरीका है जिसमें अंग्रेज़ी सहित पश्चिमी और मध्य यूरोप की सारी भाषाएँ लिखी जाती
कम्प्यूटर और हिन्दी
भारत में कंप्यूटरों का प्रयोग अभी एक सीमित वर्ग ही कर पाता है। विशेष रूप से हिंदी में कंप्यूटर का
रघुनाथ कृष्ण जोशी
रघुनाथ कृष्ण जोशी कैलिग्राफर, डिजाइनर, कवि एवं शिक्षक थे। वे देवनागरी के मंगल फॉण्ट के जनक थे
ओसीआर
हस्तलिखित, टाइप किये हुए या प्रिन्ट किये हुए पाठ (टेक्स्ट) की छबि का कम्प्यूटर द्वारा पढ़े जाने योग्य
स्थानीकरण (सॉफ्टवेयर)
किसी सॉफ्टवेयर उत्पाद को किसी भौगोलिक क्षेत्र की भाषायी, सांस्कृतिक एवं तकनीकी आवश्यकताओं के अनुरूप
इण्डिक आइऍमई
इण्डिक आइऍमई माइक्रोसॉफ्ट द्वारा वेबदुनिया के सहयोग से विकसित एक आइऍमई है। यह हिन्दी समेत विभिन्न
टाइपराइटर
टाइपराइटर एक यन्त्र है जिसका प्रयोग कागज पर कोई पाठ टाइप करने के लिये किया जाता है
आनन्द दिघे
आनन्द दिघे, शिव सेना के ठाणे जिले के एक वरिष्ट नेता थे