रहीम

अब्दुर्रहीम ख़ान-ए-ख़ाना या रहीम, एक मध्यकालीन कवि, सेनापति, प्रशासक, आश्रयदाता, दानवीर, कूटनीतिज्ञ, बहुभाषाविद, कलाप्रेमी, एवं विद्वान थे। वे भारतीय सामासिक संस्कृति के अनन्य आराधक तथा सभी संप्रदायों के प्रति समादर भाव के सत्यनिष्ठ साधक थे। उनका व्यक्तित्व बहुमुखी प्रतिभा से संपन्न था। वे एक ही साथ कलम और तलवार के धनी थे और मानव प्रेम के सूत्रधार थे। जन्म से एक मुसलमान होते हुए भी हिंदू जीवन के अंतर्मन में बैठकर रहीम ने जो मार्मिक तथ्य अंकित किये थे, उनकी विशाल हृदयता का परिचय देती हैं। हिंदू देवी-देवताओं, पर्वों, धार्मिक मान्यताओं और परंपराओं का जहाँ भी उनके द्वारा उल्लेख किया गया है, पूरी जानकारी एवं ईमानदारी के साथ किया गया है। वे जीवनभर हिंदू जीवन को भारतीय जीवन का यथार्थ मानते रहे। रहीम ने काव्य में रामायण, महाभारत, पुराण तथा गीता जैसे ग्रंथों के कथानकों को उदाहरण के लिए चुना है और लौकिक जीवनव्यवहार पक्ष को उसके द्वारा समझाने का प्रयत्न किया है, जो भारतीय संस्कृति की वर झलक को पेश करता है।छिमा बड़न को चाहिये, छोटन को उतपात। का रहीम हरि को घट्यौ, जो भृगु मारी लात॥
कृष्ण चंदर
कृष्ण चन्दर अथवा कृश्न चन्दर हिन्दी और उर्दू के कहानीकार थे। उन्हें साहित्य एवं शिक्षा क्षेत्र
फ्रांसीसी ईस्ट इंडिया कंपनी
फ्रांसीसी ईस्ट इंडिया कंपनी एक व्यापारिक प्रतिष्ठान थी। इसकी स्थापना 1664 में की गई थी ताकि ब्रिटिश
नारद पुराण
नारद पुराण या 'नारदीय पुराण' अट्ठारह महापुराणों में से एक पुराण है। यह स्वयं महर्षि नारद के मुख से
भारतीय सर्वेक्षण विभाग
भारतीय सर्वेक्षण विभाग, भारत की नक्शे बनाने और सर्वेक्षण करने वाली केन्द्रीय एजेंसी है। इसका
लक्ष्मीमल्ल सिंघवी
लक्ष्मीमल्ल सिंघवी ख्यातिलब्ध न्यायविद, संविधान विशेषज्ञ, कवि, भाषाविद एवं लेखक थे। उनका जन्म
मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भोपाल
मौलाना आजाद राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, भोपाल की स्थापना १९६० में की गई थी और २६ जून २००२ को इसे राष्
बिठूर
बिठूर (Bithoor) भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के कानपुर नगर ज़िले में स्थित एक नगर है। कुछ लोग लव कुश की जन्मस्थली
पट्टदकल्लु (मन्दिर परिसर)
पट्टदकल्लु भारत के कर्नाटक राज्य में एक पट्टदकल्लु नामक कस्बे में स्थित एक मन्दिर परिसर है
भारतीय महाकाव्य
भारत में संस्कृत तथा अन्य भाषाओं में अनेक महाकाव्यों की रचना हुई है। भारत के महाकाव्यों में वाल्मीकि
बी॰ संतोष बाबू
कर्नल बिक्कुमल्ला संतोष बाबू MVC एक भारतीय सेना अधिकारी और 16 बिहार रेजिमेंट के कमांडिंग ऑफिसर थे