विद्यापति

विद्यापति (1352-1448ई) मैथिली और संस्कृत कवि, संगीतकार, लेखक, दरबारी और राज पुरोहित थे। वह शिव के भक्त थे, लेकिन उन्होंने प्रेम गीत और भक्ति वैष्णव गीत भी लिखे। उन्हें 'मैथिल कवि कोकिल' के नाम से भी जाना जाता है। विद्यापति का प्रभाव केवल मैथिली और संस्कृत साहित्य तक ही सीमित नहीं था, बल्कि अन्य पूर्वी भारतीय साहित्यिक परम्पराओं तक भी था।
दरभंगा राज
दरभंगा राज बिहार प्रान्त के मिथिला क्षेत्र में लगभग 8380 किलोमीटर के दायरे में फैला हुआ था। इसका
वैदिक-पदानुक्रम-कोष
वैदिक-पदानुक्रम-कोष वैदिक संस्कृत ग्रन्थों का पदानुक्रम कोश है। इसका निर्माण १९३० में आरम्भ हुआ
रवीन्द्रनाथ ठाकुर की कृतियाँ
रवीन्द्रनाथ ठाकुर का सृष्टिकर्म काव्य, उपन्यास, लघुकथा, नाटक, प्रबन्ध, चित्रकला और संगीत आदि अनेकानेक
हिन्दी साहित्य कोश
हिन्दी साहित्य कोश हिन्दी साहित्य एवं उससे सम्बन्धित विषयों का विश्वकोश (encyclopedia) है। दो भागों में प्रकाशित
नंददुलारे वाजपेयी
नन्ददुलारे वाजपेयी हिन्दी के साहित्यकार, पत्रकार, सम्पादक, आलोचक और अंत में प्रशासक भी रहे। इनको
धर्मशास्त्र का इतिहास (पुस्तक)
धर्मशास्त्र का इतिहास भारतरत्न पांडुरंग वामन काणे द्वारा रचित हिन्दू धर्मशास्त्र से सम्बद्ध
चिन्तामण विनायक वैद्य
चिन्तामण विनायक वैद्य (1861–1938) संस्कृत के विद्वान तथा मराठी लेखक एवं इतिहसकार थे। कुछ समय तक वे ग्वालियर
विश्वेश्वरानन्द वैदिक शोध संस्थान
विश्वेश्वरानन्द वैदिक शोध संस्थान वैदिक साहित्य से सम्बद्ध शोध-संस्थान है, जिसका कार्य मुख्य रूप
मार्क्सवादी इतिहास-लेखन
मार्क्सवादी इतिहास-लेखन का तात्पर्य मार्क्सवादी विचारधारा से प्रभावित इतिहास-लेखन से है
आनन्द दिघे
आनन्द दिघे, शिव सेना के ठाणे जिले के एक वरिष्ट नेता थे