2022 Top Ten of Polemic for Mathematics

E (गणितीय नियतांक)
गणित में e एक प्रागनुभविक संख्या है। इसका मान लगभग 2.71828 है। इसको यदाकदा 'आयलर संख्या' भी कहते हैं। e एक महत्त्वपूर्ण गणितीय नियतांक है। प्राकृतिक लघुगणक का आधार यही संख्या ली जाती है
संस्कृत की गिनती
मन में पाप रखने
कोण
"यदि कोई रेखा अपने एक सिरे को स्थिर रखकर घूमती हुई अपनी स्थिति में परिवर्तन करती है, तो रेखा के परिक्रमण की माप को कोण कहते है
सांख्यिकी
सांख्यिकी गणित की वह शाखा है जिसमें आँकड़ों का संग्रहण, प्रदर्शन, वर्गीकरण और उसके गुणों का आकलन का अध्ययन किया जाता है। सांख्यिकी एक गणितीय विज्ञान है जिसमें किसी वस्तु/अवयव/तंत्र/समुदाय से सम्बन्धित
समान्तर चतुर्भुज
जिस चतुर्भुज की आमने-सामने की भुजाएँ समांतर तथा समान होती है उसे समान्तर चतुर्भुज (Parallelogram) कहते हैं
अंक
अंक ऐसे चिह्न हैं जो संख्याओं के लिखने के काम आते हैं। दासमिक पद्धति में शून्य से लेकर नौ तक कुल दस अंक प्रयोग किये जाते हैं। इसी प्रकार षोडश आधारी में शून्य से लेकर ९ तक एवं A से लेकर F कुल १६ अंक
वर्ग
वर्ग (Square) ज्यामिति की एक आकृति है। यदि किसी चतुर्भुज की चारों भुजाएं बराबर हों और चारो कोण समकोण हों तो उस चतुर्भुज को वर्ग कहते है
द्वयाधारी संख्या पद्धति
द्वयाधारी संख्या पद्धति केवल दो अंकों को काम में लेने वाली स्थानीय मान संख्या पद्धति है। इसमें संख्या का मान निकालने का आधार (रैडिक्स) २ लिया जाता है। चूंकि दो स्थिति वाले इलेक्ट्रानिक गेट इन संख्याओं
षट्भुज
छः भुजाओं से घिरी बन्द आकृति को षट्भुज कहते हैं। इसके सभी छः अन्तःकोणों का योग 720 डिग्री होता है। जिस षट्भुज की सभी भुजाएँ और सभी कोण समान हों, उसे समषट्भुज कहते हैं। समषट्भुज का क्षेत्रफल √3÷4×6
जोड़
जब किसी संख्या या अंक में एक या एक से अधिक संख्या या अंक को मिलाया जाता है तो उसे जोड़ या योग कहते हैं। जोड़ को + चिह्न से प्रदर्शित किया जाता है। इस चिह्न को धन चिह्न कहते हैं। जोड़ दो प्रकार से होते